ATM Full Form : एटीएम का पूरा नाम क्या है? हिंदी में बताइए।

एटीएम का फुल फॉर्म हिंदी में बताइए । (ATM Full Form)

ATM ka full form meaning in hindi
ATM ka full form meaning in hindi
किसी भी इंसान को अगर सफल होना है तो सबसे पहले उस इंसान को अपना समय बर्बाद होने से बचाना होता है ताकि वह अपने समय को सही काम और सही जगह पर लगा सके और अपने जीवन को और भी बेहतर कर सकें।
आजकल भारत में सबसे ज्यादा भीड़ बैंकों में दिखाई देती है। भारत के बैंकों में कर्मचारी कम और ग्राहक ज्यादा होने की वजह से बैंकों में लोगों का समय ज्यादा लगता है। कोई भी व्यक्ति अगर बैंक में पैसे निकालने भी जाता है तो उसे काफी लंबी लाइन में लगना पड़ता है जिस वजह से उस व्यक्ति का समय बैंक मैं बर्बाद होता है लेकिन अब भारत के लगभग 80% बैंकों में एटीएम की सुविधा आ गई है जिसके चलते अब कोई भी व्यक्ति 24 घंटे में अपने पैसे एक एटीएम के जरिए बहुत ही कम समय में निकाल सकता है। यह एटीएम दुनियाभर में इस्तेमाल होता है अलग-अलग देशों में एटीएम को अलग-अलग नाम के जरिए जाना जाता है।
यह एक तरह की मशीन होती है जिसे भारत में एटीएम के नाम से जाना जाता है बहुत से लोग इस मशीन का इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन अगर उनसे पूछा जाए कि एटीएम की फुल फॉर्म क्या है? तो शायद वह इस प्रशन का उत्तर ना दे सके। ज्यादातर इंटरव्यू में मैं भी एटीएम को हिंदी में क्या कहते हैं? जैसा सवाल पूछा गया है और बहुत से छात्र इस सवाल का उत्तर नहीं दे पाए हैं तो दोस्तों आप भी किसी के सामने निराश ना हो इसलिए हम आपको इस एटीएम के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं जो आपके दैनिक जीवन में कहीं भी किसी भी समय उपयोग में आ सकती हैं।

एटीएम का पूरा नाम क्या है? या एटीएम मशीन की फुल फॉर्म क्या है? (ATM Full Form)

एटीएम का फुल फॉर्म Automated Teller Machine होता है।
ATM के नाम के बारे में और जाने तो 
A = Automated
T = Teller
M = Machine

ATM कैसे काम करता है? या हम ATM के इस्तेमाल से अपना समय कैसे बचा सकते हैं?

भारत के अधिकतर बैंकों में ATM की सुविधा उपलब्ध है। यह एक तरीके की लोहे की मशीन होती है जिसमे प्राप्त मात्रा में केस (Case) रखा होता है। जिस व्यक्ति का बैंक खाता होता है उस व्यक्ति को बैंक एक ATM कार्ड भी देती है। यह ATM Card केई तरह के होते हैं। लेकिन अधिकतर Bank Debut Card ही देती हैं। उस कार्ड को ATM मशीन में डालने के बाद आपको जितनी भी राशि या पैसे निकालने हैं तो आप मशीन में लिख दे और उतने ही पैसे आपको ATM द्वारा मिल जाएंगे।
यह क्रिया इतनी तेजी से होती है कि एक व्यक्ति मात्र 5 मिनट में 20000 से भी ज्यादा का केस बहुत आसानी से निकाल सकता है। यह मशीन आपका समय बचाने में बहुत ही लाभदायक साबित हुई है। आज के समय में दुनिया के अधिकतर बैंकों में एटीएम मशीन आपको रखी मिलेगी।

एटीएम का इस्तेमाल सबसे पहले किस देश और कब हुआ था?

आपको यह जानकारी तो हो गई है कि एटीएम की फुल फॉर्म क्या है? लेकिन क्या आप यह जानते हो? कि एटीएम का आविष्कार किसने और इस मशीन को किस देश ने सबसे पहले इस्तेमाल किया था। तो आपकी जानकारी के लिए हम बता दे कि एटीएम का अविष्कार John Shepherd Barron ने 1967 में किया था यह मशीन सबसे पहले लंदन में प्रयोग की गई थी।
एटीएम भी दो तरीके के होते है एक में तो आप सिर्फ पैसे निकाल सकते हो और अपने बैंक अकाउंट का बैलेंस चेक कर सकते हो और दूसरी ATM में आप पैसे निकाल और जमा भी कर सकते हो। यह ATM India के काफी शहरों में आपको लगे मिल जाएंगे। इसके साथ उसमे आप कई तरीकों के भुगतान भी कर सकते हो।

यह एटीएम के कुछ रोचक तथ्य हैं।

  • एटीएम का अविष्कार John Shepherd Barron ने 1967 में किया था लेकिन अमेरिकी नागरिक Luther George Simjian ने 1939 में इसका परिचय दुनिया के सामने कराया था लेकिन किसी कारण इस मशीन को वह पूरी तरीके से सफल नहीं बना पाए थे।
  • बैंको में एटीएम दो तरिको की होती है।
  •  भारत में सबसे पहला एटीएम हांगकांग और शंघाई बैंकिंग कॉर्पोरेशन द्वारा 1987 में HSBC में स्थापित किया गया था।
  •  प्रसिद्ध कॉमेडी अभिनेता रेग वर्नी ATM इस्तेमाल करने वाला पहला व्यक्ति है जिन्होंने ATM से कुछ पैसे निकाले थे।

Ayan

मेरा नाम अयान है मेरा ब्लॉक gyanfocus.in है. यह ब्लॉक मैंने 2021 से शुरू किया था. मुझे लिखने का शौक है मैं इंटरटेनमेंट से संबंधित न्यूज़ लिखता हूं.

Leave a Reply