You are currently viewing भारत की सबसे पहली हाईड्रोजन से चलने वाली बस लान्च हो गयी है बस से धुआं नही पानी निकलता है

भारत की सबसे पहली हाईड्रोजन से चलने वाली बस लान्च हो गयी है बस से धुआं नही पानी निकलता है

  • Post category:News
  • Post comments:0 Comments

टाटा मोटर्स और इंडियन ऑयल ने मिलकर इस बस को भारत में लान्च करने की तैयारी कर ली है।

देश की दो बड़ी कम्पनियां मिलकर भारत की सबसे पहली हाईड्रोजन बस बनाने की तैयारी में है यह बस पेटोल व डीजल की खपत को कम करने में सहायक होगी। इसका सबसे ज्यादा फायदा पर्यावरण को होगा क्योंकि इस बस से धुआं नही निकलेगा बल्कि इससे पानी आएगा |

Tata Motors and Indian Oil jointly launch hydrogen bus in India

यह बस हाइड्रोजन फ्यूल सेल पर काम करती है यह सेल किसी आम सेल से तीन गुना ज्यादा बेहतर है। इस सेल को चार्ज करने की कोई जरूरत नहीं होती। यह सेल हाईड्रोजन पर काम करता है हाइड्रोजन फ्यूल सेल को हाइड्रोजन और ऑक्सीजन गैस की सप्लाई करायी जाती है जिससे कोई धुआं नही होता बस पानी ही निकलता है। जो पर्यावरण को साफ सुथरा रखने में हमारी काफी मदद कर सकता है इसकी कीमत का अंदाजा अभी फिलहाल कुछ लगााया नहीं जा सकता है लेकिन सूत्रों की मानें तो इसकी कीमत पेट्रोल और डीजल से चलने वाली गाड़ियों से थोड़ी ज्यादा हो सकती है लेकिन अगर हमें अपने वातावरण को साफ और स्वस्थ रखना है तो इतना खर्चा तो हम कर ही सकते हैं।

Tata Motors and Indian Oil jointly launch hydrogen bus in India

हाईड्रोजन बस का डिजाइन कैसा होगा –

यह बसे हाइड्रोजन फ्यूल सेल टेक्नॉलोजी पर आधारित है पर इन सेल्स को बिजली की सहायता से चार्ज नहीं किया जा सकता बल्कि यह सेल्स तब तक काम करते हैं जब तक इसको हाइड्रोजन और ऑक्सीजन दी जा रही है। तब तक यह बिजली और पानी जनरेट करता रहता है।
इन बस को टाटा मोटर्स ने इसी साल जनवरी में लोगों के सामने पूणे प्लांट पेश किया। अभी टाटा मोटर्स ने कुछ ही बस को ट्रायल के तौर पर चलाया है। यह बस देखने मे बिलकुल दूसरी बसो की तरह है। लेकिन इसका काम दूसरी बसों की तरह हमारी वायु को प्रदूषित करना नहीं है बल्कि हमारे वातावरण को साफ रखने में मददगार है।
क्या भारत सरकार का “मेड इन इंडिया” का सपना पूरा होगा?
टाटा मोटर्स और इंडियन ऑयल मिलकर भारत की पहली  “मेड इन इंडिया” हाइड्रोजन बस बनाने मे लगी है। जो देश के विकास में एक महत्वपूर्ण योगदान दे सकती है पेट्रोल और डीजल का कम इस्तेमाल करके कोई भी देश एक अच्छी अर्थव्यवस्था बना सकता है। किसी भी देश में यातायात और समान को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए बसों और ट्रकों का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें बहुत अधिक मात्रा में पेट्रोल और डीजल का इस्तेमाल होता है जिस वजह से काफी ज्यादा पैसे और वायु प्रदूषण का खतरा भी बना रहता है इस समस्या को दूर करने के लिए टाटा मोटर्स और इंडियन ऑयल मिल कर एक हाइड्रोजन बस बनाने की तैयारी में लगी हुई है जो पेट्रोल और डीजल के इस्तेमाल को बहुत ज्यादा कम कर देगी।
Tata Motors and Indian Oil jointly launch hydrogen bus in India

लंदन एक ऐसा देश है जिसमें 100 ज्यादा हाइड्रोजन फ्यूल सेल बस लंदन ट्रांसपोर्ट सिस्टम में हैं यह बस बनाने मे बहुत खर्च आता है लेकिन चलाने मे ईंधन बहुत कम खर्च होता हैं।
(All Image Source: Tata Motors)

यह भी पढ़े –

Leave a Reply