बचपन में गरीबी झेलने से लेकर ITI पास करने का पिता का सपना छात्र ने पूरा किया।

Image Created By Pinterest

सोनू कुमार शर्मा ने अपने बुरे समय को अपनी हिम्मत और मेहनत के दम पर दूर करा।

Image Created By Pinterest

सोनू के पिता की कमाई इतनी नहीं थी कि वह अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा और भरपूर खान-पान करा पाते। 

Image Created By Pinterest

आईटीआई (ITI) में छात्रों को पढ़ते देख उसके पिता के मन में विचार आया कि वह भी अपने बेटे सोनू को आईटीआई की पढ़ाई कराएंगे। 

Image Created By Pinterest

लेकिन तब उन्हें यह नहीं पता था कि आईटीआई की पढ़ाई कराने में कितना खर्च आता है। 

Image Created By Pinterest

पिता अपने नौकरी से मिले पैसों से बहुत ही मुश्किल से किताबें ले पाते थे जिसके बाद उन्हें काफी कर्ज भी लेना पड़ता था। 

Image Created By Pinterest

साल 2022 में आईटीआई (ITI) प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट आया जिसमें सोनू को खडग़पुर में प्रवेश मिल गया था। 

Image Created By Pinterest

यह बात जानकार उसके पिता ने पूरे मोहल्ले में खुशी के साथ मिठाई बाटी और सोनू ने पूरी लगन के साथ अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कंप्लीट करें।

Image Created By Pinterest

सोनू का समय बदल गया था कैंपस प्लेसमेंट में उसकी नौकरी रिलायंस कंपनी में लग गई थी। 

Image Created By Pinterest

NEXT: ईंट बनाने वाली लड़की ने NEET की परीक्षा की पास, पढ़ें संघर्ष की कहानी

Image Created By Pinterest